Tuesday, March 11, 2014

आर्यावर्त भरतखण्ड संस्कृति says:

#Ayurved दमा/श्वास/अस्थमा की सफ़ल सरल चिकित्सा- (भाग 1)
1 सोंठ (सूखी अदरक जिसे गर्म मसाले मे मिलाते है) 50 ग्राम
नागरमोथा (यह जड़ी बूटी बेचने वाली दुकान से मिलेगा) 50 ग्राम
गुड़-100 ग्राम।इन तीनो चीजों को पीस कर मिला ले। कुछ बुन्द पानी मिला कर 1-1 ग्राम की गोली बना ले। गोली को धूप मे सुखा ले नही तो खराब हो जाती है। जब भी दमे का दौरा (वेग) हो तभी एक गोली धीरे धीरे चूसे। खांसी और दमे मे बहुत लाभ करती है।
2 सितोपलादि चूर्ण- (स्वामी रामदेव जी की दुकान से ले) 2-5 ग्राम सितोपलादि चुर्ण+1 चम्मच शहद+2 चम्मच देशी घी(गाय का हो तो बहुत अच्छा)। इसे दिन मे 2बार ले। इससे नए व पुराने दमे मे जरूर लाभ होता है। अभी तक जिसे भी दिया है उसे ही लाभ हुआ है। किसी को भी हानि नहीं हुई। ध्यान रहे इस से तत्काल लाभ नहि होता। 10 दिन बाद लाभ होता है परन्तु लाभ जरूर होता है। जो भी दमे की चिकित्सा कर के परेशान हो चुके हैं वह प्रयोग जरूर करे। आप निराश नहीं होंगे। यदि कभी बुखार (ज्वर) हो जाए तो यह बन्द कर दे। बुखार ठीक होने पर दोबारा शुरू करे। यह दवा इतनी सुरक्षित है कि गर्भवती महिलाओं और 1 महिने के बच्चे को भी दे सकते हैं। (कृष्ण गोपाल आयुर्वेद भवन कालेड़ा, आर्य वैद्य शाला केरल, गीता भवन आयुर्वेदिक संस्थान व गुरुकुल झज्जर का सितोपलादि चूर्ण भी बहुत अच्छा है। )
3 *दशमूल क्वाथ – स्वामी रामदेव जी की दुकान से दशमूल क्वाथ मिलता है। इस द्शमूल क्वाथ के 2 चम्मच (लगभग 10 ग्राम) 200 ग्राम पानी मे उबाल ले। जब लगभग आधा रह जाए तब छान कर पी ले। प्रतिदिन 2-3 समय पिए। यह सब प्रकार के दमे मे जरूर लाभ करता है। कोइ भी हानि नहीं होती।
4*यह प्रयोग सब तो नहीं कर सकते परन्तु जहां पर हो सके वहा पर करे। सफ़ेद पेठा (कुष्माण्ड) जिसकी मिठाई बनाइ जाती है उसकी जड़ को लाकर छाया मे सुखा ले । लगभग 1-2 ग्राम दिन मे 2 बार गर्म पानी से ले। सभी तरह के दमे मे बहुत लाभदायक है।यह बहुत ही सफ़ल प्रयोग है। इसलिए यदि आपको सफ़ेद पेठे की जड़ मिल जाए तो प्रयोग जरूर करे।
5*कौंच के बीज – यह आपको जड़ी बूटी बेचने वाले से आसानी से मिल जाएगे। उससे आप 250 ग्राम सफ़ेद कौंच के बीज ले। उन बीजों को एक रात गर्म दुध मे रख दे। सुबह पानी से धो कर छिलका हटा दे। फ़िर तेज धूप मे सुखा दे। सुखने पर बारीक पीस कर रख ले। 3-5 ग्राम कौंच के बीज का चुर्ण+ 1 चम्मच शहद+2 चम्मच देशी घी। इस तरह सुबह शाम 2 बार ले। 2-3 महिने लेने से दमा पूरी तरह से ठीक हो जाता है। जो बहुत कमजोर हो, जिन्हे 2 कदम चलना भी मुश्किल हो वह यह प्रयोग जरूर करे। दमा तो जाएगा ही कमजोरी भी ठीक हो जाएगी। सारे शरीर मे शक्ति का सन्चार हो जाएगा। कोइ साईड इफ़ेक्ट नही है। यदि कभी बुखार (ज्वर) हो जाए तो यह बन्द कर दे। बुखार ठीक होने पर दोबारा शुरू करे।
6*केले के तने का रस- केले के पेड़ पूरे भारत मे पाए जाते हैं परन्तु गुजरात से केरल तक तो बहुत अधिक मिलता है। इस प्रयोग के लिए वह पेड़ चुने जिस पर पिछले 20 दिन मे पेस्टिसाईड का छिड़काव न किया गया हो। केले के पेड़ के तने का छोटा सा हिस्सा ले जिस से लगभग 50 ग्राम रस निकल जाए। इस प्रकार दिन मे 3 बार 20 ग्राम से 50 ग्राम तक केले के तने का रस पिला दे। ध्यान रहे केले के तने का रस निकालते समय पानी न मिलाएं। कैसा ही कठिन दमा हो 1 महिने मे ठीक हो जाता है। किसी किसी को 2-3 महिने प्रयोग करना पड़ता है। 
https://www.facebook.com/AYURVEDAGYA
kumarsanjay55555@gmail.com
दमे की तत्कालिक चिकित्सा

जौ एक किस्म का अनाज होता है जो कुछ कुछ गेहूं जैसा दिखता है। बाजार से लगभग 250 ग्राम जौ ले आएँ। ध्यान रहे कि इसमे घुन न लगा हुआ हो। इसे साफ कर ले। मंद मंद आग पर कड़ाही मे डाल कर भून ले। ध्यान रहे कि जले नहीं। इसके बाद इसे मोटा मोटा कूट/ पीस ले।
जरूरत के समय 1 बड़ा चम्मच जौ का चूर्ण लेकर उसमे 1 छोटा चम्मच देशी घी मिला कर तेज गरम तवे पर या तेज गरम लोहे की कड़छी मे डाल कर इसका धुआँ नाक से या मुँह से खींचें। यदि लकड़ी के जलते हुए कोयले पर डाल कर धुआँ खींचे तो और भी अधिक लाभदायक है। धुआँ लेने के 15 मिनट पहले और 2 घंटे बाद तक ठंडा पानी न पिए। प्यास लगे तो गरम दूध पिए।
यदि बार बार मुँह सूखता हो और प्यास लगती हो तो ये चिकत्सा न करें।
नए जुकाम मे जब सिर भारी हो और नाक बंद तब यह प्रयोग करें और चमत्कार देखें। 5 मिनट मे फायदा होगा।
खांसी, दमे मे इन्हेलर कि तरह तत्काल फायदा दिखता है।
खर्राटे मे प्रतिदिन ये धुआँ लें। सुबह शाम किसी भी समय ले सकते हैं।
कोई साइड इफेक्ट नहीं। बच्चों और गर्भवती महिलाओं के लिए भी सुरक्षित।
अन्य दवाओं के साथ भी इसका प्रयोग किया जा सकता है।
बदलते मौसम मे स्वस्थ भी प्रयोग करें ताकि नजले जुकाम से बच सकें।
दिन मे 4 बार तक प्रयोग कर सकते हैं। एक समय मे 4 बड़े चम्मच जौ घी मिला कर प्रयोग कर सकते हैं. 
संजय कुमार

Wednesday, February 13, 2013

Guest Teachers will continue upto 30 Sept 2013.

हरियाणा के सरकारी स्कूलों में कार्यरत 16,000 गेस्ट टीचरों को प्रदेश सरकार फिलहाल नहीं हटाएगी। गेस्ट टीचरों की सेवाएं समाप्त करने की समय सीमा 16 फरवरी को खत्म हो रही है। अमर उजाला को मिली जानकारी के अनुसार सरकार इन टीचरों की सेवाएं आगामी 30 सितंबर तक जारी रख सकती है।

सुप्रीम कोर्ट ने 30 मार्च, 2012 को प्रदेश सरकार को निर्देश दिया था कि हाईकोर्ट में नियमित टीचर भर्ती करने का जो शेड्यूल दिया है उसके अनुसार नियमित टीचर भर्ती होने तक गेस्ट टीचर काम करते रहें। शेड्यूल के अनुसार, 322 दिन में नियमित टीचर भर्ती होने थे और गेस्ट टीचरों की सेवाएं समाप्त होनी थी। यह अवधि 16 फरवरी, 2013 को समाप्त हो रही है। शिक्षा निदेशालय ने सरकार के पास सुप्रीम कोर्ट के फैसले के मुताबिक गेस्ट टीचरों की अवधि 16 फरवरी बताकर निर्णय लेने के लिए फाइल भेजी थी।

सरकार का फैसला
अब सरकार ने फैसला किया है कि इन गेस्ट टीचरों को 16 फरवरी को नहीं हटाया जाएगा। पात्र अध्यापक संघ ने सुप्रीम कोर्ट में अवमानना याचिका भी दायर कर रखी है, जिस पर नोटिस जारी किया गया है और आगामी 5 मार्च को सुनवाई होगी।

प्रदेश सरकार ने शिक्षक भर्ती बोर्ड से जेबीटी और लेक्चरर भर्ती प्रक्रिया पूरी होने का शेड्यूल मांगा था। बोर्ड ने दो दिन पहले शेड्यूल भेजकर कहा है कि पहले पांच दिन का सप्ताह था। अब छह दिन कार्यदिवस होंगे और साक्षात्कार में तेजी कर दी गई है। इसलिए जेबीटी और लेक्चरर भर्ती 30 सितंबर, 2013 तक पूरी होगी।

प्रदेश सरकार भर्ती बोर्ड के इस जवाब को आधार बनाकर सुप्रीम कोर्ट से आग्रह करेगी कि चूंकि भर्ती प्रक्रिया पहले ही शुरू हो चुकी है और 30 सितंबर तक पूरी हो जाएगी तब तक गेस्ट टीचरों को कार्य करने दिया जाए।

अतिथि अध्यापक संघ के महासचिव राजेंद्र शास्त्री का कहना है कि गेस्ट टीचरों को सात साल से ज्यादा हो गया है। अगर गेस्ट टीचर हटाए गए तो 16000 परिवार भूखे मर जाएंगे। सरकार हमें नियमित करे।

वहीं, पात्र अध्यापक संघ के प्रधान राजेंद्र शर्मा ने कहा कि सरकार पिछले दरवाजे से गेस्ट टीचरों को नियमित करना चाहती है। उनका कार्यकाल 16 फरवरी को समाप्त हो जाएगा। हमने 17 फरवरी को रोहतक में राज्य स्तरीय रैली रखी है, जिसमें अगले आंदोलन की रूपरेखा तैयार की जाएगी।

यह है मामला
2005 में सरकार ने गेस्ट टीचर लगाए थे। कुछ टीचर हाईकोर्ट चले गए। हाईकोर्ट ने उन्हें नियमित करने से मना कर रखा है। सुप्रीम कोर्ट ने सिर्फ नियमित टीचर भर्ती (322 दिन) होने तक सेवा में बने रहने का निर्देश दे रखा है। गेस्ट टीचर सरकार से मांग कर रहे हैं कि उन्हें अन्य राज्यों की तर्ज पर नियमित किया जाए।

Amar Ujala,13 February,

Thursday, February 7, 2013

Download Free Gupshup Messenger Android Software on Your Phone.

*If you want to receive our msg in future also, download the Gupshup Software through ur Android Phone from the link. http://gs.im/sidhraj


*Kya aapka Mobile Android support karta hai ya nahi,check karne ke liye niche diye link par click karen-

https://support.google.com/googleplay/bin/answer.py?hl=en&answer=1727131#S




 *If support karta h to apne Android phone mei Internet chala kar iss link par click karen-http://gs.im/sidhraj



Iske baad Left side mei ja kar Gupshup Messenger download kare & unlimited msg send karne aur receive karne ka enjoy karen.

Note: PC par download nahi hoga.
Note: Download karne se pehle E-mail Id se log in karna hoga.
Note: Ek E-mail Id se ek hi GS Application download hoga.

===

Tuesday, January 8, 2013

Medicine for snake biting.


दोस्तो सबसे पहले साँपो के बारे मे एक महत्वपूर्ण बात आप ये जान लीजिये ! कि अपने देश भारत मे 550 किस्म के साँप है ! जैसे एक cobra है ,viper है ,karit है ! ऐसी 550 किस्म की साँपो की जातियाँ हैं ! इनमे से मुश्किल से 10 साँप है जो जहरीले है सिर्...फ 10 ! बाकी सब non poisonous है! इसका मतलब ये हुआ 540 साँप ऐसे है जिनके काटने से आपको कुछ नहीं होगा !! बिलकुल चिंता मत करिए !

लेकिन साँप के काटने का डर इतना है (हाय साँप ने काट लिया ) और कि कई बार आदमी heart attack से मर जाता है !जहर से नहीं मरता cardiac arrest से मर जाता है ! तो डर इतना है मन मे ! तो ये डर निकलना चाहिए !

वो डर कैसे निकलेगा ????

जब आपको ये पता होगा कि 550 तरह के साँप है उनमे से सिर्फ 10 साँप जहरीले हैं ! जिनके काटने से कोई मरता है ! इनमे से जो सबसे जहरीला साँप है उसका नाम है !
russell viper ! उसके बाद है karit इसके बाद है viper और एक है cobra ! king cobra जिसको आप कहते है काला नाग !! ये 4 तो बहुत ही खतरनाक और जहरीले है इनमे से किसी ने काट लिया तो 99 % chances है कि death होगी !

लेकिन अगर आप थोड़ी होशियारी दिखाये तो आप रोगी को बचा सकते हैं
होशियारी क्या दिखनी है ???

आपने देखा होगा साँप जब भी काटता है तो उसके दो दाँत है जिनमे जहर है जो शरीर के मास के अंदर घुस जाते हैं ! और खून मे वो अपना जहर छोड़ देता है ! तो फिर ये जहर ऊपर की तरफ जाता है ! मान लीजिये हाथ पर साँप ने काट लिया तो फिर जहर दिल की तरफ जाएगा उसके बाद पूरे शरीर मे पहुंचेगा ! ऐसे ही अगर पैर पर काट लिया तो फिर ऊपर की और heart तक जाएगा और फिर पूरे शरीर मे पहुंचेगा ! कहीं भी काटेगा तो दिल तक जाएगा ! और पूरे मे खून मे पूरे शरीर मे उसे पहुँचने मे 3 घंटे लगेंगे !

मतलब ये है कि रोगी 3 घंटे तक तो नहीं ही मरेगा ! जब पूरे दिमाग के एक एक हिस्से मे बाकी सब जगह पर जहर पहुँच जाएगा तभी उसकी death होगी otherwise नहीं होगी ! तो 3 घंटे का time है रोगी को बचाने का और उस तीन घंटे मे अगर आप कुछ कर ले तो बहुत अच्छा है !

क्या कर सकते हैं ?? ???

घर मे कोई पुराना इंजेक्शन (injection) हो तो उसे ले और आगे जहां सुई(needle) लगी होती है वहाँ से काटे ! सुई(needle) जिस पलास्टिक मे फिट होती है उस प्लास्टिक वाले हिस्से को काटे !! जैसे ही आप सुई के पीछे लगे पलास्टिक वाले हिस्से को काटेंगे तो वो injection एक सक्षम पाईप की तरह हो जाएगा ! बिलकुल वैसा ही जैसा होली के दिनो मे बच्चो की पिचकारी होती है !

उसके बाद आप रोगी के शरीर पर जहां साँप ने काटा है वो निशान ढूँढे ! बिलकुल आसानी से मिल जाएगा क्यूंकि जहां साँप काटता है वहाँ कुछ सूजन आ जाती है और दो निशान जिन पर हल्का खून लगा होता है आपको मिल जाएँगे ! अब आपको वो injection( जिसका सुई वाला हिस्सा आपने काट दिया है) लेना है और उन दो निशान मे से पहले एक निशान पर रख कर उसको खीचना है ! जैसी आप निशान पर injection रखेंगे वो निशान पर चिपक जाएगा तो उसमे vacuum crate हो जाएगा ! और आप खींचेगे तो खून उस injection मे भर जाएगा ! बिलकुल वैसे ही जैसे बच्चे पिचकारी से पानी भरते हैं ! तो आप इंजेक्शन से खींचते रहिए !और आप first time निकलेंगे तो देखेंगे कि उस खून का रंग हल्का blackish होगा या dark होगा तो समझ लीजिये उसमे जहर मिक्स हो गया है !

तो जब तक वो dark और blackish रंग blood निकलता रहे आप खिंचीये ! तो वो सारा निकल आएगा ! क्यूंकि साँप जो काटता है उसमे जहर ज्यादा नहीं होता है 0.5 मिलीग्राम के आस पास होता है क्यूंकि इससे ज्यादा उसके दाँतो मे रह ही नहीं सकता ! तो 0.5 ,0.6 मिलीग्राम है दो तीन बार मे आपने खीच लिया तो बाहर आ जाएगा ! और जैसे ही बाहर आएगा आप देखेंगे कि रोगी मे कुछ बदलाव आ रहा है थोड़ी consciousness (चेतना) आ जाएगी ! साँप काटने से व्यकित unconsciousness हो जाता है या semi consciousness हो जाता है और जहर को बाहर खींचने से चेतना आ जाती है ! consciousness आ गई तो वो मरेगा नहीं ! तो ये आप उसके लिए first aid (प्राथमिक सहायता) कर सकते हैं !

इसी injection को आप बीच से कट कर दीजिये बिलकुल बीच कट कर दीजिये 50% इधर 50% उधर ! तो आगे का जो छेद है उसका आकार और बढ़ जाएगा और खून और जल्दी से उसमे भरेगा !
तो ये आप रोगी के लिए first aid (प्राथमिक सहायता) के लिए ये कर सकते हैं !
____________________________

दूसरा एक medicine आप चाहें तो हमेशा अपने घर मे रख सकते हैं बहुत सस्ती है homeopathy मे आती है ! उसका नाम है NAJA (N A J A ) ! homeopathy medicine है किसी भी homeopathy shop मे आपको मिल जाएगी ! और इसकी potency है 200 ! आप दुकान पर जाकर कहें NAJA 200 देदो ! तो दुकानदार आपको दे देगा ! ये 5 मिलीलीटर आप घर मे खरीद कर रख लीजिएगा 100 लोगो की जान इससे बच जाएगी ! और इसकी कीमत सिर्फ पाँच रुपए है ! इसकी बोतल भी आती है 100 मिलीग्राम की 70 से 80 रुपए की उससे आप कम से कम 10000 लोगो की जान बचा सकते हैं जिनको साँप ने काटा है !

और ये जो medicine है NAJA ये दुनिया के सबसे खतरनाक साँप का ही poison है जिसको कहते है क्रैक ! इस साँप का poison दुनिया मे सबसे खराब माना जाता है ! इसके बारे मे कहते है अगर इसने किसी को काटा तो उसे भगवान ही बचा सकता है ! medicine भी वहाँ काम नहीं करती उसी का ये poison है लेकिन delusion form मे है तो घबराने की कोई बात नहीं ! आयुर्वेद का सिद्धांत आप जानते है लोहा लोहे को काटता है तो जब जहर चला जाता है शरीर के अंदर तो दूसरे साँप का जहर ही काम आता है !

तो ये NAJA 200 आप घर मे रख लीजिये !अब देनी कैसे है रोगी को वो आप जान लीजिये !
1 बूंद उसकी जीभ पर रखे और 10 मिनट बाद फिर 1 बूंद रखे और फिर 10 मिनट बाद 1 बूंद रखे !! 3 बार डाल के छोड़ दीजिये !बस इतना काफी है !

और राजीव भाई video मे बताते है कि ये दवा रोगी की जिंदगी को हमेशा हमेशा के लिए बचा लेगी ! और साँप काटने के एलोपेथी मे जो injection है वो आम अस्तप्तालों मे नहीं मिल पाते ! डाक्टर आपको कहेगा इस अस्तपाताल मे ले जाओ उसमे ले जाओ आदि आदि !!

और जो ये एलोपेथी वालो के पास injection है इसकी कीमत 10 से 15 हजार रुपए है ! और अगर मिल जाएँ तो डाक्टर एक साथ 8 से -10 injection ठोक देता है ! कभी कभी 15 तक ठोक देता है मतलब लाख-डेड लाख तो आपका एक बार मे साफ !! और यहाँ सिर्फ 10 रुपए की medicine से आप उसकी जान बचा सकते हैं !

और राजीव भाई इस video मे बताते है कि injection जितना effective है मैं इस दवा(NAJA) की गारंटी लेता हूँ ये दवा एलोपेथी के injection से 100 गुना (times) ज्यादा effective है !

_____________
तो ये जानकारी आप हमेशा याद रखे पता नहीं कब काम आ जाए हो सकता है आपके ही जीवन मे काम आ जाए ! या पड़ोसी के जीवन मे या किसी रिश्तेदार के काम आ जाए! तो first aid के लिए injection की सुई काटने वाला तरीका और ये NAJA 200 hoeopathy दवा ! 10 - 10 मिनट बाद 1 - 1 बूंद तीन बार
रोगी की जान बचा सकती है !!

Wednesday, December 12, 2012

Interview Schedule for PGT Cat No 12,13,14, & 16.


High Court Orders about 16290 Grade Pay of JBT Teachers.

HIGH COURT OF PUNJAB AND HARYANA AT CHANDIGARH-
Positive decision about the case of JBT Grade of 16290.
Petitioners are praying for a writ of mandamus directing the respondents to release the salary of the petitioners treating their basic pay as Rs. 16,290/- instead of Rs. 13,500/- with effect from their initial date of appointment and arrears of salary on such grant of the basic pay.
It is the contention of the petitioners that in the light of the
notification dated 30.12.2008 (Annexure-P-2), they are entitled to the grade pay scale of Rs. 16,290/-. It has further been contended that the persons, who were appointed alongwith the petitioners, have been granted the basic pay of Rs. 16,290/- as per the Haryana Civil Services (Revised Pay) Rules, 2008, but this benefit has not been granted to the petitioners. On this basis, petitioners have submitted representations dated 24.1.2012 and 5.8.2012 (Annexures-P-5 and P-6) to the respondents, but without any response from their side.
CWP No***** of 2012
Counsel for the petitioners states that the petitioners, at this stage,would be satisfied, if direction is issued to the Director, Elementary Education, Panchkula, Haryana-respondent No. 3 to consider and decide the representation dated 5.8.2012 (Annexure-P-6) within some specified time.Without going into the merits of the case or commenting thereon, the present petition is disposed of with direction to the Director, Elementary Education, Panchkula, Haryana-respondent No. 3 to consider and decide the representation dated 5.8.2012 (Annexure-P-6) within a period of three months from the date of receipt of certified copy of this order. The decision, so taken, be conveyed to the petitioners forthwith. In case, the petitioners are held entitled to the claim made by them through their representation dated 5.8.2012 (Annexure-P-6), the consequential benefits, if any, be released to them, in accordance with law, within a further period of two months. If the claim of the petitioners projected through their representation dated 5.8.2012 (Annexure-P-6) is not to be accepted, then then a speaking and well reasoned order be passed by the respondents.
1.12.2012
==

Wednesday, November 7, 2012

HARYANA SCHOOL TEACHERS SELECTION BOARD


Advt. No. 2 / 2012 Date of publication: 08.11.2012

Closing date for submission of applications online: 08.12.2012 upto 5:00 p.m.

Closing date for deposit of fee: 12.12.2012 upto 4:00 p.m.

Closing date for counter signature of Director, Elementary Education of the concerned

State on 4 years teaching experience certificate: 08.01.2013



Online applications are invited for recruitment the under mentioned posts of Primary

Teachers(PRT) - (Group-C Post) using the website

www.recruitment.cdacmohali.in the online

application can be filled up to 08.12.2012 till 5.00 p.m. after which the link will be disabled. The

candidates are strongly advised to apply online well in time without waiting for last date of

submission of online application. The printed copy of the online form with necessary

certification will be brought at the time of verification/scrutiny-cum-interview. Qualification /

eligibility conditions, age and certificates will be determined with regard to last date fixed for

receipt of applications also called as closing date given in the advertisement. The details of

District Cadre Posts for Cat No. 1 and 2 are as under:-


PRIMARY TEACHERS (PRT) - (GROUP-C POST)

DEPARTMENT OF ELEMENTARY EDUCATION, HARYANA

DETAILS OF ELIGIBILITY AND QUALIFICATIONS

COMMON TO ALL POSTS


Age:-


18-40 years on the last date of submission of application form. Relaxation as given in

special instructions. For Teachers upper age relaxation

(see Note-1).

Pay Scale:-


Rs.9300-34800 (PB-2) with a grade pay of Rs. 4200/-

Fee:-


(i) The rate of fee is Rs. 300/- for General candidates and Rs. 75/- for SC/BC candidates of

Haryana. The fee should be deposited in any branch of State Bank of India 48 hours

after registration of application form with CDAC Mohali.

(ii) Fee for ESM and PHC candidates of Haryana is exempted.


DISTRICT CADRE POST EXCEPT DISTRICT MEWAT

Cat. No. 1 8763 posts of Primary Teachers (PRT) (including 346 posts for backlog

of PH (B/L) category)



(

GEN=3538, SC=1433, BCA=1138, BCB=632, ESM GEN=591, ESM SC=169,

ESM BCA


=169, ESM BCB=255, PH (Blindness or low vision) =474,

PH


(Locomotor Disability i.e. one arm, one leg, one arm & one leg, both leg.)

=128,

OSP GEN=82, OSP SC=82, OSP BCA=36, OSP BCB=36).

PRT posts are District Cadre Posts. District wise numbers of vacancies and

list of Districts for indicating 06 choices in order of priority are given at

Appendix-C and Appendix-D respectively on HSTSB website


www.hstsb.gov.in


and C-DAC website www.recruitment.cdacmohali.in

HARYANA SCHOOL TEACHERS SELECTION BOARD

HARTRON BHAWAN, BAYS NO. 73-76, SECTOR-2, PANCHKULA – 134105

Website www.hstsb.gov.in



2


Essential Qualification/Eligibility:-

(i) Senior Secondary


(or its equivalent) with at least 50% marks and

2- year


Diploma in Elementary Education; OR

Senior Secondary


(or its equivalent) with at least 45% marks and 2- year

Diploma in Elementary Education in accordance with the

NCTE (Recognition

Norms and Procedure), Regulations 2002;OR


Senior Secondary


(or its equivalent) with at least 50% marks and 4 - year

Bachelor of Elementary Education

(B. El. Ed.); OR

Senior Secondary


(or its equivalent) with at least 50% marks and 2- year

Diploma in Education

(Special Education);OR

B.A./B.Sc./B.Com


and 2–year Diploma in Elementary Education (by

whatever name known).


(For recognition of Diploma/Degree see note-2).


(ii)


Certificate of having qualified Haryana Teacher Eligibility Test (HTET) /

School Teachers Eligibility Test (STET) of Haryana

OR Four years teaching

experience as Primary Teachers as One time exemption of HTET/STET

(See

Note-3).


(iii)


Matric with Hindi/Sanskrit or 10+2/B.A./M.A. with Hindi as one of the

subject.


POST FOR DISTRICT MEWAT ONLY

Cat. No. 2 1107 posts of Primary Teachers (PRT) (including 44 posts for backlog of

PH (B/L) category)



(

GEN=447, SC=181, BCA=143, BCB=80, ESM GEN=74, ESM SC=21, ESM

BCA


=21, ESM BCB=32, PH (Blindness or low vision) =60, PH (Locomotor

Disability i.e. one arm, one leg, one arm & one leg, both leg.)=16,

OSP GEN=11,

OSP SC


=11, OSP BCA=5, OSP BCB=5)

Essential Qualification/Eligibility:-

(i) Senior Secondary


(or its equivalent) with at least 50% marks and

2- year


Diploma in Elementary Education; OR

Senior Secondary


(or its equivalent) with at least 45% marks and 2- year

Diploma in Elementary Education in accordance with the

NCTE (Recognition

Norms and Procedure), Regulations 2002;OR


3


Senior Secondary


(or its equivalent) with at least 50% marks and 4 - year

Bachelor of Elementary Education

(B. El. Ed.); OR

Senior Secondary


(or its equivalent) with at least 50% marks and 2- year

Diploma in Education

(Special Education);OR

B.A./B.Sc./B.Com


and 2–year Diploma in Elementary Education (by

whatever name known).


(For recognition of Diploma/Degree see note-2).


(ii)


Certificate of having qualified Haryana Teacher Eligibility Test (HTET) /

School Teachers Eligibility Test (STET) of Haryana

OR Four years teaching

experience as Primary Teachers as One time exemption of HTET/STET

(See

Note-3).


(iii)


Matric with Hindi/Sanskrit or 10+2/B.A./M.A. with Hindi as one of the

subject.


**************

Note 1.


One time age relaxation in upper age limit shall be given to the primary teachers

working in privately managed Government aided, recognized and Government

schools to the extent of service rendered by them as a primary teacher subject to a


maximum


of five years.

Note 2.


Professional Training Diploma or Certificate awarded by any State, Board or

University other than Haryana Education Department will be recognized only if

this Degree or Diploma or Certificate has been

recognized by the Haryana

Government


.

AND

A Diploma/degree course in Teacher Education recognized by the National

Council for Teacher Education

(NCTE) only shall be considered. However, in case

of Diploma in Education (Special Education) and B. Ed. (Special Education), a

course recognized by the

Rehabilitation Council of India (RCI) only shall be

considered.


Note 3.


A one time exemption of HTET/STET for teachers who till 11.04.2012 have

worked for minimum 4 years in

privately managed Govt. Aided Schools,

Recognized


Schools and Govt. Schools. Number of years is cumulative, candidate

must be in service as PRT on 11.04.2012 and in position on the date of applying.

The teaching experience must be in relevant subject after acquiring essential


4


qualification and supported by salary slip. They will have to qualify HTET not later

than 1

st, April 2015 otherwise their services will be terminated automatically.

Note 4.


Four years teaching experience certificate & one time exemption certificate for

HTET/STET and one time upper age relaxation certificate issued by

Head of the

Institute must be verified by DEO/DEEO


& counter signed by Director of

Elementary Education


of the concerned State even for CBSE/ Central

Schools/Navodaya Vidhalaya. One time implies that an applicant can apply only

once for a particular category of post in the first advertisement. No such

exemption will be granted in the subsequent advertisement.


Note 5.


Candidates possessing higher academic or professional qualification will not

be eligible


unless they possesses the minimum qualification including HTET or

four years teaching experience as primary teacher.


Note 6.


A member of Service appointed by the direct recruitment shall be liable to serve

for a continuous period of five years in the rural area from the date of

appointment.


Note 7.


33% posts are reserved for women of Haryana (horizontal reservation).

Note 8.


Reservation in SC, BC, ESM, OSP and PHC is only for Haryana State.

Note 9.


There will be relaxation of 5% in minimum qualifying marks at Senior Secondary

Level for Scheduled Caste (SC)/Backward Class (BC) and Differently abled

candidates/persons with disability.


Note 10.


Matter regarding equivalency of U.E.I. Qualifications for Ex-Serviceman is under

consideration in Hon’ble High Court. In view of this, candidates who have U.E.I.

Qualifications can also apply for the post of PRT. However, their eligibility will be

subject to the decision of LPA No. 1111/2010 in C.W.P. No. 9925 of 2005.


Note 11. Physically Handicapped Candidates means Physically Challenged/Persons

with Disabilities. (For vacancies for PRT Posts Physically Handicapped

relates to Blindness and Locomotor disability only).

Note 12.


Preference will be given to candidates who possess knowledge of URDU upto

Matriculation/Middle Standard for posts of Primary Teachers (PRT’s) for Urdu

speaking area. Such candidates, if selected, shall serve only in Urdu speaking area.


Note 13.


Candidates applying for a post must ensure that they fulfill all the eligibility

conditions on the last date fixed for submission of online application forms i.e.

08.12.2012 the

closing date given in the Advertisement. Application once filled

will not be changed especially Category of applicant and category of post. If on


5


verification at any time before or after the written examination or interview or

appointment, it is found that they do not fulfill any of the eligibility conditions or it

is found that the information furnished is false or incorrect their candidature will

be cancelled.


Note 14.


Applicants must read following on website-link:

(i)


HSTSB special instructions at Appendix-A for details of reservation, certificates

required, age, experience, other parameters & guidelines for filling of form. The


Advertisement


is based on the Service Rules of the Department of Elementary

Education,


Haryana (DEE). Any clarification on qualifications/eligibility, may

be addressed to the Director, Elementary Education, Haryana, Sector-5,

Panchkula.


(ii)


Details of vacancies are District wise at Appendix-C as given on website.

(iii)


Details of Districts and Districts for indicating choice:- Candidates applying for

PRT Post, Category No. 1 to indicate choice of Districts from 1 to 06 in order of

preference/priority from the list as given at Appendix-D on website. Filling the

same choice more than once will render the choice invalid. Those candidates who

do not come within their choice will be allotted districts by HSTSB.


Note 15.


Detailed instructions for filling the online application form are available on the

website

www.recruitment.cdacmohali.in In case of any guidance / information/

clarification regarding the online filling of the form the applicant can call at CDAC

Mohali helpline Nos. 0172-6619054-55 on all working days from 9:00 a.m. to 5:30

p.m. (for any Guideline/Information/Clarification regarding deposit of fee the

applicant can call at Helpline No. 0172-4569042).


Note 16. (i)


The prescribed essential qualification does not entitle a candidate to be called

for

interview. The Haryana School Teachers Selection Board (HSTSB) may short

list the candidates for interview by holding a

written examination or on the basis

of

academic criteria or percentage cut off to be adopted by the Board. The

decision of the Board in all matters relating to acceptance or rejection of an

application, eligibility/suitability of the candidates, mode of, and criteria for

selection etc. will be final and binding on the candidates. No inquiry or

correspondence will be entertained in this regard.


6


(ii)


Verification/Scrutiny of Documents-cum-Interview Call Letter or Examination

Admit Card will not be sent by post. These should be downloaded by the

Candidates from the website

www.recruitment.cdacmohali.in

(iii)


Absentees on the date of Verification/Scrutiny of Documents-cum-Interview will

not be given second chance and no further correspondence will be entertained in

this regard.


Note 17.


This advertisement and under mentioned instructions/guidelines are also

available at HSTSB website

www.hstsb.gov.in and C-DAC, Mohali website

www.recruitment.cdacmohali.in


:-

(i)


Appendix-A : Special Instructions ;

(ii)


Appendix-B : Important instruction for candidates regarding Verification/

Scrutiny of Documents-cum-Interview ;


(iii)


Appendix-C : Category wise and District wise number of vacancies;

(iv)


Appendix-D : Details of District

Attention:-


Applicants are advised to check HSTSB and CDAC-Mohali website

regularly for Notices/Exams/Cut off/Verification/Scrutiny of

Documents-cum-Interview Call Letter regularly.


HARYANA SCHOOL TEACHERS SELECTION BOARD WISHES ALL APPLICANTS AND THEIR FAMILIES

A VERY-VERY HAPPY DIWALI.



Place : Panchkula Secretary,

Dated: 07.11.2012 Haryana School Teachers Selection Board,

Panchkula.


USE OF MOBILE PHONE, PAGER AND OTHER ELECTRONIC/COMMUNICATION DEVICES IN

HARYANA S


CHOOL TEACHERS SELECTION BOARD EXAMINATION/ INTERVIEW IS STRICTLY

PROHIBITED.



7


APPENDIX-D


HARYANA SCHOOL TEACHERS SELECTION BOARD

HARTRON BHAWAN, BAYS NO. 73-76, SECTOR-2,

PANCHKULA – 134105


Website –

www.hstsb.gov.in

Choice of District for indicating 06 choices in order of priority for Advt. No. 2/2012

Category No.1 are given below:-

Sr. No. Name of District



1. Ambala

2. Yamuna Nagar

3. Bhiwani

4. Gurgaon

5. Faridabad

6. Hisar

7. Jind

8. Karnal

9. Panipat

10. Kaithal

11. Kurukshetra

12. Rewari

13. Rohtak

14. Sirsa

15. Jhajjar

16. Fatehabad

17. Sonipat

18. Panchkula

19. Mahendergarh

20. Palwal